Kabj Ka Ilaj In Hindi| कब्ज का इलाज

kabj ka ilaj in hindi

कब्ज का इलाज़ Kabj ka ilaj: दुनिया में इस समय बड़े से बड़ा आदमी अगर किसी रोग से परेशान है तो वो है कब्ज। कब्ज की अगर वास्तविकता बताऊ तो केवल 20 से 30 प्रतिशत लोगों को की कब्ज की शिकायत होती है , बाकी के लोगों में जिन्हें कब्ज की समस्या है वो मानसिक रूप से कब्ज के मरीज़ होते हैं। ठीक से खाना न खाना, ज्यादा मसाला और बाजार के बने हुए खाने खाने से कब्ज की प्रॉब्लम हो जाती है, इसके अलावा और भी बहुत से कारण हैं जिनसे कब्ज हो जाती है, तो आज हम आपके लिए लेकर आये हैं kabj ka ilaj कब्ज का इलाज हिंदी में और कब्ज के कारण अगर आपको कब्ज की शिकायत है तो आप कब्ज का घरेलू इलाज कर सकते हैं।

Kabj Ka Ilaj In Hindi| कब्ज का इलाज

Kabj Ke Lakshan Aur Upay:

जैसा की मैंने बताया की कब्ज बीमारी ही नहीं एक मानसिक बीमारी भी है. क्यों की जिसे कभी भी एक बार भी कब्ज हुआ होगा तो वो ये सोच लेता है कि मुझे कब्ज की शिकायत हो गयी है. जबकि ऐसा नहीं है, कभी कभी ये खुद सही हो जाती है. अगर आपको इनमे से कोई लक्षण बहुत दिनों तक दिखाई देते हैं तो आप सबसे पहले डॉक्टर की सलाह ले. और जब डॉक्टर आपको बताये की आपको कब्ज है तभी आप kabj ka ilaj करें. चलिए देखते हैं कब्ज के कौन कौन से लक्षण होते हैं.

  • यदि आप 3 दिन से शौंच नहीं गए हैं, तभी आप ये समझिये आपको कब्ज हो सकती है. लेकिन ये कोई जरूरी नहीं है की आपको कब्ज ही हुआ हो, हो सकता है इसके पीछे कोई और भी कारण हो.
  • कभी कभी कुछ दवाए खाने से भी कब्ज की शिकायत हो जाती है, तो इसके लिए आप अपने डॉक्टर से इसके बारे में ज़रूर बात करे.
  • अधिक शख्त मल का आना कब्ज होने का संकेत होता है जिससे आगे चलकर बवासीर की भी शिकायत हो सकती है. इसलिए कब्ज को हमेशा कण्ट्रोल में रखे.

ये भी पढ़े:

हिंदी पहेलियाँ Paheliya in hindi

Kabj ka karan कब्ज के कारण:

कब्ज क्यों हो जाती है इसका कारण पता लगाएं बिना हम इसको नज़रअंदाज़ कर देते हैं और समस्या और भी बड़ी हो जाती है। इसके लिए कुछ संकेतों को समझना जरूरी है जिससे पता चल सके कि कब्ज किस कारण से हो सकती है।

  • टाइम से खाना न खाना
  • मौसम के अनुरूप सब्जियां न खाना
  • देर रात में खाना खाना
  • खाना का सही से न पचना
  • ज्यादा मसाले का खाना खाना
  • तली हुई चीज़ ज्यादा खाना
  • बाहर का भोजन ज्यादा करना
  • मैदा का ज्यादा प्रयोग करना
  • मल को रोकना

कब्ज का इलाज Kabj Ka Ilaj In Hindi

ऊपर बताये गए कारणों से आपको पता चल रहा होगा की आप कहाँ गलती कर रहे हैं। अगर ई में से कोई भी गलती आप कर रहे हैं तो इसे पहचाने और कब्ज का इलाज करें। कब्ज का इलाज अगर जल्दी से जल्दी नहीं किया जाता है तो बवासीर हो सकता है। बवासीर होने का सबसे बड़ा कारण अभी तक कब्ज ही बताया गया है। इस लिए समय पर कब्ज का इलाज करना चाहिए चलिये जानते हैं इसके कुछ घरेलु नुस्खे।

  • मूंग की दाल की खिचड़ी बनाये इसका सेवन 7 दिनों तक करें, ऐसा करने से मल निकलना शुरू हो जाता है और पेट साफ हो जाता है। जब भी कभी कब्ज की शिकायत हो तो 2 भाग मूंग दाल और एक भाग चावल डालकर खिचड़ी बनाये फिर इसमें हींग और ज़ीरा डालकर घी का तड़का लगाये।
  • कब्ज का एक कारन पानी कम पीना भी होता है । हम अक्सर पानी पीने पर ध्यान नहीं दे पाते। या तो कोई हमें पानी दे दे या मज़बूरी बस खाने के बाद पानी पी लिया जाये, बस इतना ही पानी ज्यादातर लोग पीते है। इस कारण से मल खुश्क होकर कड़क हो जाता है और जो की पेट में पड़ा पड़ा सड़ने लगता है, इसी कारण से पेट में दर्द और गैस जैसी समस्याएं पैदा होती हैं।
  • इमली का पानी कब्ज के इलाज के लिए प्रयोग की जाती है, जो लोग इमली का इस्तेमाल रोज़ाना करते हैं उन्हें कब्ज की समस्या नहीं होती है। इमली के पानी में थोड़ी शक्कर मिलाकर इसका घोल तैयार करें। खाना कहने के बाद इसका सेवन करें।
  • छुआरा एक ड्राई फ़ूड होता है जो की खजूर से बनता है। रात को सोने से पहले 5 भीगे हुए छुआरे दूध के साथ खाएं या 5 छुआरों को ढूध के साथ उबालकर पिए। ऐसा 10 दिनों तक करने से पेट साफ होने लगता है और कब्ज ठीक हो जाता है।
  • अगर आपको कब्ज हमेशा बनी रहती है तो इसके लिए अंजीर लाभदायक है। कब्ज के इलाज के लिये 5 अंजीर एक गिलास दूध के साथ उबालकर खाएं, रात को सोने से पहले खाने से लाभ मिलता है।
  • खाना खाने के बाद रोजाना गर्म पानी पीने की आदत डालें, और जब सुबह उठें तो फिर एक गिलास गर्म पानी पियें।
  • रात को एक चम्मच पिसा हुआ आंवला , गर्म दूध के साथ लेने से या गर्म पानी लेने से दस्त खुलकर आता है, पेट साफ हो जाता है।
  • बथुआ पानी में उबालकर उसे छान लें , अब इसमें थोड़ी चीनी मिला लें। सुबह और शाम को पीने से कब्ज की प्रॉब्लम दूर हो जाती है।

 

Purani Kabj ka Ilaj पुरानी कब्ज का इलाज:

 

  • कब्ज के इलाज के लिए 20 ग्राम किशमिश, 3 मुनक्का, 2 अंजीर को 250 ml पानी के साथ भिगा दें। भीगने के बाद इसे मसल दें, अब इसमें एक नींबू निचोड़ दें और 2 चम्मच शहद मिलाकर पिएं।
  • इसबगोल की भूसी कब्ज को दूर करने के लिए एक जानी मानी दवा है, जिसे की दवा कहा जाता है पर है नहीं। इसबगोल को रात में 2 चम्मच लेकर एक कटोरी दही के साथ मिलाकर लें।
  • काली मिर्च में देशी घी मिलाकर पीने से भी कब्ज का इलाज किया जाता है। 3 दिन तक देशी घी में काली मिर्च डालकर पीने से मल आराम से निकल जाता है।
  • नीम के पेड पर सफ़ेद रंग के फूल निकलते हैं जिन्हें दूप में सुखा लें और इसका चूर्ण बना लें। रोजाना रात को एक चुटकी इस चूर्ण को गर्म पानी के साथ लें, इससे कब्ज दूर हो जाती है।
  • अरंडी का तेल पीने से कब्ज दूर होती है और साफ़ मल होता है। रात को सोते समय एक चम्मच अरंडी का तेल पिए।
  • खाली पेट छिलके सहित सेव खाने से कब्ज में बहुत लाभ मिलता है। गर्भवती महिलाओं को कब्ज की शिकायत हो जाती है, उन्हें सुबह खाली पेट सेव खाना चाहिए। भोजन करने के बाद सेव खाने से कब्ज होने लगता है इस लिए इस बात का ध्यान रखें।
  • दोपहर को आलू बुखारा खाने से भी कब्ज की शिकायत दूर हो जाती है। और कुछ दिनों तक सेवन करने से ज्यादा लाभ मिलता है।

 

तो आज के इस लेख में आपने जाना की कब्ज का इलाज (Kabj ka ilaj in hindi) कैसे करें, कब्ज होने का क्या कारण होता है और इसके समाधान भी देखे। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे अपने अपनों के साथ शेयर ज़रूर करें, क्यों की हल्के शेयर करने से बहुतों को फायदा मिलेगा।